शंकु का आयतन | Shanku Ka Aayatan (उदाहरण सहित)

 शंकु का आयतन (Shanku Ka Aayatan ) : दोस्तों आज की इस पोस्ट में हम आपको sanku ka ayatan ka formula की जानकारी देने वाले है इसके साथ ही साथ आपको ये भी जानकारी देने वाले है कि शंकु किसे कहते हैं? अगर आप शंकु का आयतन जानना चाहते हैं तो आज का यह पोस्ट आपके लिए है इसे ध्यान से जरूर पढ़ें 


shanku ka aayatan

आपको बता दूँ कि इस पोस्ट में आपको shanku ka aayatan कैसे निकाला जाता है यह भी जानकारी मिलने वाला है साथ ही साथ आपको शंकु का आयतन से संबंधित विडियो भी उपलब्ध कराने वाले है ताकि आप shanku ka aayatan समझ सकें


शंकु किसे कहते हैं? | Shanku Kise Khate Hai


सबसे पहले मै आपको बता दूँ कि शंकु को इंग्लिश में (Cone)  कहा जाता है शंकु एक त्रिविमीय आकृति है जो कि शीर्ष बिन्दु एवं आधार को मिलाने वाली रेखाओं द्वारा निर्मित होता है आपको बता दूँ कि यदि किसी शंकु का आधार एक वृत्त हो तो वह लम्ब वृत्तीय शंकु कहलाता है। यह समान आधार और ऊंचाई के बेलन के १/३ भाग के बराबर होता है।


आइये इसको दुसरे शब्दों में समझते हैं Shanku रेखा खंडों या रेखाओं द्वारा निर्मित वह आकृति है जो एक निश्चित बिन्दु शीर्ष को एक समतलीय आधार के सभी बिन्दुओं को जोड़ने पर बनती हैं उसे शंकु कहते हैं आपको बता दूँ कि शंकु के चार भाग होतें है जैसे, शीर्ष, वृताकार आधार, शंकु की ऊँचाई, एवं तिर्यक ऊँचाई


शंकु का आयतन | Shanku Ka Aayatan


आपको बता दूँ शंकु एक प्रकार का गोलाकार पिरामिड है जो आधार के केंद्र के ऊपर अपने शीर्ष के साथ स्थिर होता है ऐसी स्थिति में Sanku ka Ayatan ज्ञात करने के लिए आधार की त्रिज्या और ऊँचाई ज्ञात होना बहुत आवश्यक है यदि ये दोनों ज्ञात हो तो नीचे दिए गए फार्मूला का उपयोग करके शंकु का आयतन निकाल सकते हैं



शंकु का आयतन = 1/3 πr2h घन इकाई


लम्बवृतीय शंकु की तिर्यक ऊँचाई = √ ( h2 + r2 )


शंकु की ऊँचाई = √ (l2 – r2 )


शंकु की आधार की त्रिज्या = √ (l2 – h2 )


जहाँ पर h = ऊँचाई, l = तिर्यक ऊँचाई और r = आधार की त्रिज्या है


शंकु के आयतन सम्बंधित फार्मूला | Sanku ka Aayatan Formula


1.  अगर समान आधार हो और समान ऊँचाई के हो तो लम्बवृतीय बेलन और लम्बवृतीय शंकु का आयतन 1 : 3 होता है 


2. लम्बवृतीय शंकु की त्रिज्या m गुनी कर दिया जाऐ और ऊँचाई अपरिवर्तित रहे तब वक्रपृष्ठ का क्षेत्रफल m गुनी हो जाऐगा और आयतन m2 गुनी हो जाऐगा


3. Cone की त्रिज्या अपरिवर्तित रहे और ऊँचाई m गुनी हो  तो आयतन भी m गुनी हो जाती है


शंकु का आयतन से संबंधित विडियो  | Shanku Ka Aayatan Video


अगर आपको इस पोस्ट से समझ में नहीं आया तो नीचे हमने shanku ka formula से संबंधित एक विडियो दिऐ है आप इसे देखकर समझ सकते हैं 




निष्कर्ष:


दोस्तों आज की इस पोस्ट में आपने जाना शंकु का आयतन ( Shanku Ka Aayatan) बहुत सारे लोगों द्वारा गूगल पर कुछ इस तरह के सवालों को सर्च किया जाता है जैसे - शंकु का आयतन ,shanku ka aayatan , sanku ka ayatan ka formula , shanku ka formula

sanku ,शंकु का आयतन in English और शंकु किसे कहते हैं मै उम्मीद करता हूँ कि आपको इन सभी सवालों का जवाब इस पोस्ट में मिल गया होगा अगर आपको इन सभी सवालों का जवाब इस पोस्ट में मिल गया होगा अगर इससे संबंधित आपके मन में कोई सवाल है तो आप कमेंट जरूर करें हम आपके सवालों के जल्द से जल्द जवाब देने की कोशिश करेगें


एक बात और मेरे प्यारे दोस्तों अगर आपको यह पोस्ट थोड़ा सा भी मदद किया तो इसे अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया जैसे - WhatsApp, Facebook, Instagram, Twitter इत्यादि पर शेयर जरूर करें ऐसे ही ज्ञान बढ़ाने वाली पोस्ट पढ़ने के लिए hindipadho.com पर लगातार विजिट करते रहिये धन्यवाद आपका दिन शुभ हो!


इसे भी पढ़े :-


छोटी उ की मात्रा वाले शब्द

बड़ी ई की मात्रा वाले शब्द

ह्रस्व स्वर किसे कहते हैं?

स्वर वर्ण किसे कहते हैं?

वर्ण किसे कहते हैं?


एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने